what is bootloder, recovery, kernal, rom, flashing (bootloder, kernal, recovery, rom, flashing ye sab kya hoti hai)



दोस्तों मेरे पास कई दिन से ईमेल, मेसेज और कमेंट आ रहे थे और लोग पूछ रहे थे कि बूटलोडर क्या होता है कस्टम रोम क्या होती है फ्लेशिंग क्या होती है कर्नल क्या होता है तो अगर आप भी यह जानना चाहते है तो बने रहिये मेरी इस आर्टिकल में आज हम लोग बात करने जा रहे है इसके बारे में, नमस्कार दोस्तों मेरा नाम अजीत तिवारी है और टेक्निकल दादी में आप सभी का बहुत बहुत स्वागत है तो बढ़ते है अपने टॉपिक की तरफ और जान लेते है |

what is bootloder, recovery, kernal, rom, flashing (bootloder, kernal, recovery, rom, flashing ye sab kya hoti hai)
what is bootloder, recovery, kernal, rom, flashing (bootloder, kernal, recovery, rom, flashing ye sab kya hoti hai)

Bootloder - तो दोस्तों सबसे पहले बात करते है bootloder की तो बूट लोडर एक ऐसा कोड होता है जो आपके फ़ोन में ऑन होते ही सबसे पहले run होता है और वह यह चेक करता है जो आपके सिस्टम में फाइल्स है वह ठीक तरह से काम कर रही है या नहीं कर रही है कोई फाइल्स मिसिंग तो नहीं हो गयी है और उसके बाद में ही वह एंड्राइड फ़ोन को run करता है और तब जाकर कही आप अपने फ़ोन को इस्तेमाल कर पाते है | वैसे बूटलोडर आपको दो तरीके का मिलता है सबसे पहला locked और दूसरा unlocked, अब देखिये अनलॉक करने की प्रोसेस हर फोन्स में अलग अलग होती है और बहुत से फ़ोन कुछ ऐसे होते है जिसमे एक ही क्लिक करने में फ़ोन अनलॉक हो जाते है और कुछ फ़ोन ऐसे होते है जैसे samsung, htc या xiomi वाले मोबाइल जिनमे अनलॉक करना थोडा मुश्किल हो जाता है लेकिन एक बूटलोडर को अनलॉक करने के बाद ही आप अपने फ़ोन में कस्टम रोम या कस्टम रिकवरी बगैरा फ़्लैश कर सकते है या कर्नल change कर सकते है लेकिन एक locked बूट लोडर आपको इन सब चीजो की परमिशन नहीं देता है क्यूँ कि कंपनी नहीं चाहती है कि यूजर कुछ भी फ़ोन में छेड़खानी करें या उसे फ़्लैश करे वह चाहती है कि यूजर को जैसा फ़ोन दिया वह उसे वैसा ही यूज करे विअसे दोस्तों आपने यह भी सुना होगा कि फ़ोन किसी ने रूट किया या कस्टम rom किसी ने फ़्लैश की लेकिन आपका फ़ोन बूटलूप में चला गया और आपका फ़ोन ऑन नहीं हुआ तोह वह इसीलए ऐसा होता कि बूटलोडर ने सारी फाइल्स चेक की और उसे कुछ फाइल्स मिसिंग मिली जिससे आपका फ़ोन ऑन नहीं हुआ और वह इसे वापस से रीस्टार्ट करके बूटलूप में ले आया | 

Kernal - अब दोस्तों हम लोग बात करते है kernal की तो देखिये हर एक ऑपरेटिंग सिस्टम में चाहे वो विंडोज हो या मैक हो या आपका ब्लैकबेरी हो या लिनक्स हो या एंड्राइड हो तो हर एक सिस्टम में कर्नल होता है और कर्नल का ये काम होता है कि हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर के बीच का एक ब्रिज होता है मतलब अगर सॉफ्टवेयर को किसी भी हार्डवेयर की ज़रुरत पड़ती है तो वह कर्नल से रिक्वेस्ट करेगा और कर्नल उसकी रिक्वेस्ट को पूरी करके दे देता है या फिर अगर हार्डवेयर को सॉफ्टवेयर से कम्यूनिकेट करना है तो भी वो कर्नल के द्वारा ही उस काम को पूरा कर पायेगा अब आइल लिए एक उदहारण ले लेते है कि जैसे आपने अपने फ़ोन में गूगल सर्च के आइकॉन में टैब किया उसका मतलब यह है कि आप कुछ सर्च करना चाहते है तो जैसे ही आपने वह टैब किया तो वहां पर टच स्क्रीन को इनफार्मेशन मिल जाती है कि इस जगह पर एक टैब हुआ है और वह कर्नल को बताता है कि यहाँ पर एक टैब हुआ है और कर्नल सॉफ्टवेयर को बताता है और जब सॉफ्टवेयर को यह पता चलता है कि इस जगह यह टैब हुआ है और यूजर कुछ सर्च करना चाहता है, तो सॉफ्टवेयर वापस से कर्नेल को यह बताता है कि आपका जो माइक्रोफोन है वह ऑन हो जाये और यूजर जो भी सर्च करना चाहता है वह वापस से मुझे आकर बताये फिर कर्नल माइक्रोफोन को बोलता है कि वह ऑन जाये और जैसे ही यूजर कुछ बोलता है वह उसकी इनफार्मेशन सर्च हो जाती है तो आप कर्नल को सिर्फ ये मानिए की यह हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर के बीच का mediater है और अगर आपने अपने फ़ोन का कर्नल change किया है तो आप फ़ोन की स्पीड उसकी परफॉरमेंस को बढ़ा सकते है उसे स्लो कर सकते है आप चाहे तो बैटरी लाइफ को बढ़ा सकते है तो एक कर्नल आपको हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर को एक्सेस करने वह सारी परमिशन देता है जिससे आप फ़ोन पर पूरी command कर सकते है |

Recovery – अब बात करते है रिकवरी की, तो देखिये रिकवरी एक ऐसा सॉफ्टवेयर है एक ऐसा टूल है जिसकी तुलना आप एक कंप्यूटर के बायोस से कर सकते है | रिकवरी दो टाइप की होती है स्टॉक रिकवरी और कस्टम रिकवरी | और हर एक फ़ोन में फिर चाहे वो किसी भी कंपनी का हो उसमे कंपनी ने स्टॉक रिकवरी प्रोवाइड की हुई होती है और इसी रिकवरी की मदद से आप अपने ऑफिसियल रोम को फ़्लैश कर सकते है आप अपनी existing rom का बैकअप ले सकते है उसे डिलीट कर सकते है, फॉर्मेट कर सकते है वापस से उसे इनस्टॉल कर सकते है तो ये सब काम आप एक स्टॉक रिकवरी से कर सकते है लेकिन अगर आप अपने फ़ोन में कस्टम रिकवरी करते है जैसे कि clockworkmod रिकवरी या twrp recovery तो ये दो रिकवरी आपको एक स्टॉक रिकवरी से ज्यादा आप्शन देती है अर्थात इनकी मदद से आप कस्टम रोम फ़्लैश कर सकते है आप कर्नल फ़्लैश कर सकते है आप चाहे तो अलग से थीम फ़्लैश कर सकते है मतलब आप वह सभी चीजे इसके द्वारा कर सकते है जो आपको एक स्टॉक rom परमिशन नहीं देती है तो अगर आप कुछ एडवांस चीजे अपने फ़ोन के साथ करना चाहते है या उसे रूट करना चाहते है और उस पर पूरी तरह से command करना चाहते है तो कस्टम रिकवरी इसका एक बेहतरीन आप्शन है |

Rom – तो इसके बारे में मैं आपको पहले ही बता चुका हूँ लेकिन फिर भी शार्ट में बात कर लेते है तो rom का फुल फॉर्म read only memory होता है आपके फ़ोन का जो भी सॉफ्टवेयर होता है मतलब जब भी आप अपने को ऑन करते है और स्क्रीन तक आने में उसके बीच जो क्रियाएं चलती है वह सब rom है इसको सिर्फ आप रीड कर सकते है | अब rom भी दो तरह की होती है सबसे पहली stock rom और दूसरी custom rom |
तो स्टॉक rom वह होती है जो कंपनी जब हमे कोई फ़ोन सेट देती है तो उसके कंपनी द्वारा डाला गया जो भी सॉफ्टवेयर होता है वो स्टॉक rom कहलाता है लेकिन कस्टम rom वह होती है तो उसमे जो developers होते है वह उसमे कुछ चीजे change करते है कुछ हटाते है कुछ रखते है कुछ एडवांस features लाते है और उसके लिए पूरा का पूरा पैकेज एक specific features के साथ रिलीज़ कर देते है जिसको हम कस्टम rom बोलते है तो कस्टम rom में जो सबसे पोपुलर rom है उसे cynagenmod बोला जाता है और इसे सबसे ज्यादा यूज किया जाता है इसके बाद paranoid एंड्राइड है और slimroms और lineage os और कई तरीके के developers द्वारा बनाये गये काफी ऑपरेटिंग सिस्टम या rom है जिसे आप आजकल के फ़ोन में देख सकते है |

Flashing – अब फ्लशिंग क्या होती है तो इसका मतलब यह होता है जब भी हम कोई rom इनस्टॉल करते है या किसी भी ऑपरेटिंग सिस्टम के उपर कोई भी दूसरा सिस्टम ओवरराईट करते है या किसी भी सिस्टम को दोबारा से इनस्टॉल करना flashing कहलाता है |

तो दोस्तों उम्मीद करता है कि आज मैंने आपको जो भी इनफार्मेशन दी है आपको अच्छे से समझ आ गयी होगी और अगर आपको फिर भी आपको कोई संदेह है तो आप मुझे कमेंट करके मुझसे पूछ सकते है और अगर कुछ मेरी पोस्ट में गलती हो गयी हो तो उसे मुझे बताकर सुधारने को बता सकते है | मिलते है एक नयी पोस्ट के साथ तब के लिए जय हिन्द जय भारत | आपका दिन शुभ हो |
              
Previous
Next Post »