WHAT IS UNIT & BETWEEN RELATIONS (UNIT KYA HOTA HAI AUR INKE BEECH KYA RELATION HOTE HAI)



दोस्तों कई लोगो ने मुझसे ईमेल पर और कमेंट में पूछा है कि कंप्यूटर डाटा यूनिट क्या है और इसे आप डिटेल में बताइए तो आज हम कंप्यूटर डाटा यूनिट के बारे सीखेंगे और जानेंगे कि ये क्या होते है और इन सब के बीच में क्या रिलेशन है मतलब इनमे बड़ा वाला यूनिट कौन सा होता है और छोटा कौन सा होता है, तो चलिए फिर चलते है और सीख लेते है नमस्कार दोस्तों मेरा नाम अजीत तिवारी है और टेक्निकल दादी में आप सभी का बहुत बहुत स्वागत है |
WHAT IS UNIT & BETWEEN RELATIONS UNIT KYA HOTA HAI AUR INKE BEECH KYA RELATION HOTE HAI
WHAT IS UNIT & BETWEEN RELATIONS UNIT KYA HOTA HAI AUR INKE BEECH KYA RELATION HOTE HAI

तो कंप्यूटर डाटा वो यूनिट होते है जिन्हें हम अपनी लाइफ में किसी भी कंप्यूटर डाटा फाइल्स को discribe करने के लिए रोजाना यूज करते है यानी कि ये बताने के लिए कि वो कंप्यूटर डाटा फाइल्स कितनी बड़ी है और कितना स्पेस वो हमारी हार्ड ड्राइव में लेगी अगर हम उसे स्टोर करते है तो यह तो कंप्यूटर डाटा यूनिट की परिभाषा हो गयी | अब जो कंप्यूटर डाटा यूनिट है वो पर्टिकुलर कोई एक यूनिट् नहीं है, बहुत सारे यूनिट्स होते है लेकिन उन सबको समझने के लिए अगर आप जो उसका fundamemntal यूनिट है जिसे bit बोला जाता है इसको अगर आपने सही से समझ लिया तो आगे के जितने भी यूनिट्स है आपको समझने में बहुत ही आसानी हो जायेगी | अगर हम bit की बात करें तो आपके पास कोई भी डिवाइस हो चाहे वो लैपटॉप, कंप्यूटर या मोबाइल हो नोटबुक या अल्ट्रा बुक हो या किसी भी तरह का कंप्यूटिंग डिवाइस हो तो उसको चलाने के लिए आपको इलेक्ट्रिसिटी की जरूरत पड़ेगी क्यूँ कि कंप्यूटर के अन्दर जो डाटा फ्लो हो रहा होता है वो इलेक्ट्रिसिटी की फॉर्म में ही हो रहा होता है तो इलेक्ट्रिसिटी जो है उसके सिर्फ दो ही स्टेट होते है या तो वो ऑन या फिर वो ऑफ होगा इसके अलावा कोई दूसरा नहीं होता है तो ये जो इलेक्ट्रिसिटी के दो स्टेट है उसे ही bit बोला जाता है क्यूँ कि कंप्यूटर के अन्दर जो डाटा फ्लो हो रहा होता है या स्टोर होता है वो इलेक्ट्रिसिटी के रूप में ही होता है पहला ऑन और दूसरा ऑफ और जैसा कि आप पहले से ही जानते है कि कंप्यूटर सिर्फ बाइनरी भाषा को समझता है तो ऑन और ऑफ को 0 या 1 की भाषा में समझता है यानी की इन दोनों में एक को समझता है और यही bit में कन्वर्ट हो जाता है |


अब ये तो बात हो गयी bit की, इसके बाद जो यूनिट आती है शायद उसका आपने कभी नाम भी नहीं सुना होगा क्यूँ कि ये इतना फेमस भी नहीं हुई थी इसे nibble बोला जाता है | ये डेली लाइफ में इतना यूज भी नहीं होता है| लेकिन आपकी जानकारी के लिए मैंने इसे बता दिया है | 1 nibble = 4 bit होता है और ये bit से भी छोटा है | अब इसके बाद जो यूनिट है ये बहुत इम्पोर्टेन्ट है क्यूँ कि हम कहीं भी फाइल की जो साइज़ देखते है या कोई भी हम लोग सॉफ्टवेयर डाउनलोड करते है तो हम उसे bytes के रूप में देखते है, bit और bytes दोनों ही अलग अलग होते है इसे ख़ास तौर से याद रखे बहुत से लोग इसे एक ही समझते है | bit सिर्फ दो यूनिट से मिलकर बना है और bytes bit से बड़ा होता है यानि कि bytes bit का बड़ा भाई समझ लीजये तो 1 byte = 8 bit होता है | तो इसमें किसी तरह का confusion  रखने की जरूरत नहीं है और अगर किसी को इसमें confusion होता है तो specially वह होता है जहा पर लोग अपना इन्टरनेट रिचार्ज करने जाते है अपना डाटा प्लान लेते है, जो इन्टरनेट प्रोवाइडर होते है और इन्टरनेट सर्विस प्रोविडे करते है तो ये लोग अपनी इन्टरनेट स्पीड देते है वो बिट्स के रूप में देते है लेकिन कस्टमर इसे bytes के रूप में समझता है | जैसे कि इन्टरनेट प्रोवाइडर जो अपना डाटा प्लान देते है जैसे उन्होंने 2 mbps की स्पीड अगर प्लान में दी है तो इसे 2 मेगा बिट्स पर सेकंड बोला जाएगा, न कि 2 मेगा bytes पर सेकंड , और जो यूजर होते है जब वो अपनी डिवाइस में कुछ भी डाउनलोड करते है तो उन्हें 256 kbps स्पीड मिलती है जिससे डाउनलोड स्पीड कम लगती है और उन्हें ऐसा लगता है जैसे उनके साथ धोखा किया गया है जब कि ऐसा बिलकुल भी नहीं है ये 2 mbps वही 256 kbps है क्यूँ कि 2 mbps को अगर बिट्स की फॉर्म में अगर आप कन्वर्ट करेंगे तो ये 2 mbps = 256 kbps ही आयेगी |इस्ल्ये आप इसमें किसी भी तरीके का कोई confusion न रखे इसलिए मैं भी चाहता हु की आपके जो कंप्यूटर फंडामेंटल है उसे आप बहुत ही अच्छी तरह से समझे जिससे भविष्य में आपको कोई परेशानी ना आये तो ये तो हो गयी bit और byte की बात अब इसके बाद वाले जितने भी यूनिट्स है kb, mb,gb, tb ये जितने भी यूनिट्स है ये 1024 के multiplication है यानी कि आप हर एक यूनिट को 1024 से multiply करेंगे तो आपको उसका अगला यूनिट यानी कि उससे बड़ा यूनिट मिलता जाएगा | तो byte के बाद जो यूनिट है वो kilo byte होता है यानी कि 1 kb = 1024 bytes और ऐसे अगला यूनिट मेगा बाइट होता है और ये 1 mb = 1024 kb होगा और इसके बाद आता है उसे गीगा बाइट बोलते है और ये 1 gb = 1024 mb होगा इसके बाद टेरा बाइट आता है और ये 1 tb = 1024 gb होगा इसके बाद पेटा बाइट आता है और ये 1 pb = 1024 tb होता है और इसके बाद बहुत सी यूनिट आती है जिसका अभी आपने नाम भी नहीं सुना होगा लेकिन आने वाले टाइम में जैसे स्टोरेज बढती जा रही है वैसे वैसे वो यूनिट्स के फॉर्म change होती जायेंगी | और इन सबके नाम है एक्सा बाइट, जीटा बाइट और योटा बाइट है और इन सबको एक निचे लिस्ट में दिखाया गया है जिसके द्वारा आप आसानी से समझ सकते है |
WHAT IS UNIT & BETWEEN RELATIONS UNIT KYA HOTA HAI AUR INKE BEECH KYA RELATION HOTE HAI
WHAT IS UNIT & BETWEEN RELATIONS UNIT KYA HOTA HAI AUR INKE BEECH KYA RELATION HOTE HAI

वैसे इतने बड़े यूनिट कि अभी तो फिलाल न आपको और हमें जरूरत पड़ेगी लेकिन फ्यूचर में आगे इसका बहुत यूज किया जाना है वैसे इसके अलावा और भी बहुत सारे यूनिट्स है लेकिन उसको मैं अभी समझाना नहीं चाहता और आप भी बोर हो जाओगे लेकिन आगे कभी जरूरत पड़ी तो मैं इसके उपर भी एक आर्टिकल बना दूंगा, तो ये यूनिट्स क्या है और इन सबके बीच क्या रिलेशन है आप अच्छी तरह समझ गये होंगे अगर आपको ये content पसंद आया हो तो इसे शेयर और लाइक जरूर कीजये और कोई भी आपका प्रश्न है तो कमेंट में मुझसे पूछिये मैं आपके सवालों का जबाब देने की पूरी कोशिश करूंगा | तब तक लिए जय हिन्द वन्दे मातरम |   

        
Previous
Next Post »