What is RAM and How it works




What is RAM and How it works
दोस्तों RAM के बारे में तो आपने सुना ही होगा, भले ही वो स्मार्ट फ़ोन हो ,कंप्यूटर हो, लैपटॉप हो, टेबलेट या फिर और कोई सा डिवाइस हो अगर आपने RAM के बारे सुना है और आप जानना चाहते है कि RAM क्या होती है तो बने रहिये आप मेरी इस पोस्ट पर , मैं आपको बताऊंगा RAM क्या होती है और ये कैसे WORK करती है | दोस्तों मैं हूँ अजीत तिवारी और आप सभी का मेरे इस वेबसाइट टेक्निकल दादी में स्वागत है |
चलिए फिर शुरू करते है

What is RAM and How it works
What is RAM and How it works

दोस्तों अगर हम RAM की बात करे, RAM को कहते है (RANDOM ACCESS MEMORY) और RAM कोई स्टोरेज बिलकुल भी नहीं है अगर हम इसकी मेमोरी से COMPARE करे तो ये बिलकुल ही हमेशा के लिए एक ही डाटा को स्टोर करके नहीं रखती है , जैसे की मैं आपको EXAMPLE बताता हुजैसे की आपने गेम बगैरा कुछ इनस्टॉल किया या डाउनलोड किया या फिर आपने अपने मोबाइल में गेमिंग APP इनस्टॉल किया तो वो आपके मेमोरी में इनस्टॉल होता है RAM में और जैसे ही आप अपने गेम को प्ले करते है तो वो मेमोरी से उठकर RAM में चला जाता है और रैम इतनी फ़ास्ट मेमोरी होती है कि आप उसे कंप्यूटर की सबसे FASTEST मेमोरी कह सकते है  |RAM को हम एक्सेस करते है CPU के द्वारा, जैसे ही आप TASK बगैरा कुछ इनपुट करते है उसी के बाद RAM वर्क करना शुरू कर देता है यानी की जैसे ही आप कंप्यूटर ऑन करते है RAM वर्किंग कंडीशन में जाता है जिससे उसमे पहले से ही सॉफ्टवेयर PRELOADED होने लगते है और जब आपके सामने स्क्रीन आती है तब आप SPEEDLY किसी भी प्रोग्राम को चला सकते है |

दोस्तों अगर हम RAM की बात करे तो इसकी जो CPU से कनेक्टिविटी इसकी तब तक रहती है जब तक आप उस प्रोग्राम को run करते है यानी उसका लेन देन या फाइल ट्रान्सफर CONTINUE बनी रहती है | Ram की बात करे तो आपने सुना ही होगा कि जितनी ज्यादा ram होती है उतनी ही अच्छी multi tasking अच्छी होती है अर्थात प्रोग्राम उतना ही अच्छे से speedly वर्क करते है अगर आप बहुत ज्यादा एप्लीकेशन यूज करते है या heavy गेमिंग करते है और अगर आपकी ram कम होगी तो आपका सिस्टम हैंग होगा,धीमा होगा और आप उतने अच्छे से काम नहीं कर पाएंगे इसीलए ram जितनी ज्यादा होगी उतना ही सिस्टम आपका अच्छे से काम करेगा| लेकिन ये ram भी motherboard के हार्डवेयर के स्ट्रक्चर के उपर depend करता है की उसमे कितनी ram लगाई जा सकती है यानी की जो motherboard 8 gb ram के हिसाब से बनाया गया है अगर आप उसमे 16 gb या उससे अधिक की ram लगा देंगे तो motherboard उसे 8 gb की तक हो ram मानेगा बाकि की आपकी मेमोरी बेकार मानी जायेगी |

अब आते है ram की इस बात पर की हम लोग जो प्रोग्राम चलाते है क्या वो परमानेंट स्टोर रहते है ram में तो बिलकुल नहीं ,क्यूँ की जब हम लोग अपना काम कर लेते है और उस काम को सेव कर लेते है तो वो हार्ड डिस्क में जाकर सेव होता है की ram में, इसिलए इसे टेम्पररी मेमोरी भी कहते है और हार्ड डिस्क को परमानेंट मेमोरी कहेंगे | मान लीजये हम लोग कोई प्रोग्राम या एप्लीकेशन कंप्यूटर पर चला रहे है और अचानक हमारा कंप्यूटर शट डाउन हो जाता है  और जब हम अपने कंप्यूटर को ओपन करते है तो हमको बिलकुल फ्रेश विंडो मिलती है की वहां से जहा से हम लोग अपने प्रोग्राम को चला ररहे होते है|
दोस्तों अगर आपको मेरी ये पोस्ट अच्छी लगी हो तो इसे लाइक और शेयर कीजयेगा |आपका अमूल्य समय देने के लिए धन्यवाद |
जय हिन्द जय भारत
Previous
Next Post »