types of mobile display

अगर डिस्प्ले के टाइप्स के बारे में बात करें  कई तरह के डिस्प्ले होते हैं, जैसे AMOLED, LCD, TFT  आदि तरह के होते है | लेकिन अगर आप मार्किट में मोबाइल खरीदने जाते जाते है  तो आपको कैसे पता चलेगा कि यह डिस्प्ले कौन सा है IPS  है, AMOLED है या SUPER AMOLED है | तो इन सबका कंफ्यूजन दूर करने के लिए मैंने यह टॉपिक बनाया है | 
नमस्कार दोस्तों मेरा नाम अजीत तिवारी है और आप सभी का मेरे ब्लॉग टेक्निकल दादी पर स्वागत है,  |
TYPES OF MOBILE DISPLAY
TYPES OF MOBILE DISPLAY
प्रायः डिस्प्ले 10 तरह के होते हैं :-
(1)  LCD       (2) TFT ,    (3)  IPS     (4)  RETINA        (5)  OLED
(6) AMOLED   (7) SUPER AMOLED   (8)  SLCD         (9) CLEAR BLACK  (10) E-INK
1-  LCD -  इसकी फुल फॉर्म लिक्विड क्रिस्टल डिस्प्ले होती है यह डिस्प्ले आपने वह देखि होगी जो सबसे पहले मोबाइल आते थे ब्लैक एंड वाइट में उसमें इन्हीं LCD का यूज़ किया जाता था ,या जो हम लोग कैलकुलेटर USE करते है उसकी डिस्प्ले भी LCD ही होती है इस डिस्प्ले में 6 लेयर USE होती है VERTICALLY, HORIZONTALLY और क्रिस्टल के द्वारा इन्हें आपस में जोड़कर बनाया जाता है लेकिन इसमें प्रॉब्लम क्या होती थी जब इन्हें सनलाइट में लाया जाता था तो इसमें कुछ दिखाई नहीं देता था वैसे ये LCD फेमस बहुत हुए थे क्यूँ की स्टार्टिंग ही LCD से हुई थी |
2-  TFT – इसकी THIN FILM TRANSISTER भी कहा जाता है इस डिस्प्ले को ट्रांसिस्टर की मदद से बनाया गया है और इसमें कलर कोडिंग RGB (RED –GREEN –BLUE) के द्वारा की जाती है|इसके अन्दर क्या होता है इसके पहले भाग में HORIZONTALLY, VERTICALLY लाइन्स होते है उसके अगले भाग में गिलास फ़िल्टर होता है और फिर उसके बाद कलर गिलास फ़िल्टर होता है जिसमे RGB कलर दिया होता है और उसके बाद इसमें TFT गिलास होता है जिसमे ट्रांसिस्टर का USE किया गया होता है,जब हम इसमें वोल्टेज देते है तो इसमें कलर कॉम्बिनेशन होकर हमारे सामने डिस्प्ले आता है |लेकिन इसमें खुद की लाइट नहीं होती है इस्ल्ये इसमें अलग से बेक लाइट का USE किया जाता है |इसकी कमी बस ये थी की जब इसे साइड से देखते थे तो इसमें कुछ दिखाई नहीं देता था तो IPS में इसका SOLUTION किया गया |
3-  IPS इसे IN PLANE SWITCHING भी कहा जाता है |इसकी स्टार्टिंग सबसे पहले LG और SAMSUNG कंपनी ने की और इसकी खासियत ये है कि इसे साइड से भी देखा जा सकता है |इसे मैट्रिक्स डिस्प्ले भी कहा जाता है ,आज की तारीख में आप जितने भी टीवी, मोबाइल या कंप्यूटर आते है उसमे आईपीएस डिस्प्ले का ही यूज किया जाता है |
4-  RATINA DISPLAY RATINA डिस्प्ले को SPECIALLY एप्पल कंपनी ने तैयार किया है और इसकी खासियत ये है इसके PIXEL आपको नजदीक से जाकर भी फटे हुए नजर नहीं आएंगे जब की आपको LCD, TFT , IPS डिस्प्ले में पास में जाकर PIXEL फटे हुए दिखेंगे |IPS की पिक्चर क्वालिटी बहुत ही क्लियर होती है|
5- OLED- इसे ORGANIC LIGHT EMITTING DIODE भी कहा जाता है ,इसकी स्टार्टिंग NOKIA कंपनी ने की है और बहुत ही शानदार डिस्प्ले बोला जाता है इसकी खासियत ये है कि इसमें खुद की लाइट होती है जो अपने आप में कलर कॉम्बिनेशन होता है इस अलग से किसी भी बेक लाइट की जरुरत नहीं होती है , आने वाले समय में FLEXIBLE OLED का यूज होगा , वैसे अभी तक इंडिया में FLEXIBLE OLED आई नहीं है, इसका मतलब ये की आप अपने मोबाइल को फोल्ड करके अपनी जेब में रख सकते है |और आने वाले टाइम में इसका काफी यूज होने वाला है |
6- AMOLED  इसे ACTIVE MATRIX ORGANIC LIGHT EMITTING DIODE कहते है| इसकी खासियत ये है कि ये OLED की अपेक्षा काफी क्लैरिटी देती है OLED में क्या था कि उसमे खुद की लाइट होने की वजह से थोडा डिस्प्ले हल्का शो होता था, लेकिन AMOLED में एक्टिव मैट्रिक्स की वजह से मतलब इसके डिस्प्ले में ट्रांजिस्टर और कैपासिटर का यूज किया गया जिससे इसकी लाइटिंग काफी अच्छी हो गयी |ये OLED और TFT के मिश्रण से बनाया गया है |
7-  SUPER AMOLED SUPER AMOLED फिलाल है तो LCD लेकिन इसकी खासियत ये है इसमें टच को इनबिल्ट कर दिया गया है जिसकी वजह से मोबाइल और काफी स्लिम हो गया |
8-  SLCD- SUPER LCD BASICALLY ये सोनी और सैमसंग ने मिलाकर इसको बनाया है | ये LCD का लेटेस्ट वर्शन है , इसकी खासियत ये है की इसमें गिलास को दूर न करके पास पास कर दिया गया है जिसकी वजह से आपको ऐसा लगेगा की डिस्प्ले पर चलने वाली इमेज मोबाइल के उपर चल रही है, न की मोबाइल के अन्दर| HTC कम्पनी ने काफी अपने मोबाइल ऐसे मार्किट में उतारे है जहा पर आपको ये देखने को मिल सकता है |
9-   CLEAR BLACK DISPLAY इसको NOKIA वालो ने लांच किया था इसकी खासियत ये है कि ये सनलाइट के REFLECTION को रोकता है जिसकी वजह से इसकी क्लैरिटी काफी बेहतर हो जाती है |आपने देखा होगा की नोकिया के फोन्स की डिस्प्ले काफी ब्लैक होती है उसके पीछे का कारण ये क्लियर ब्लैक डिस्प्ले ही होता है|
10- E –INK   इसमें डिस्प्ले के उपर कलर एलसीडी रहेगा और पीछे की तरफ इ इंक एलसीडी रहेगा जिसकी वजह से आपकी जो स्टडी होगी वो आपको एक सी लगेगी और पॉवर CONSUME भी एक सा बना रहेगा अर्थात जब तक आप मोबाइल से स्टडी कर रहे होंगे तो उसका जो पीछे का ब्लैक एंड वाइट पेज होगा वो SAME वैसा ही बना रहेगा उसमे किसी तरह का कोई पॉवर COMSUME नहीं होगा जिसकी वजह से आपका बैटरी बेक उप अच्छा बना रहेगा| ये BASICALLY अभी रससियन टेक्नोलॉजी है जो अभी भारत में नही आई है लेकिन आने वाले टाइम में इसका स्कोप काफी होने वाला है |
दोस्तों अगर आपको ये पोस्ट अच्छी  लगी हो तो प्लीज इसे शेयर कीजयेगा अपने दोस्तों के साथ, ऐसे ही आपको और अच्छी पोस्ट्स मिलती रहेंगी , तब तक के लिए धन्यबाद
जय हिन्द जय भारत|

Previous
Next Post »