how to secure facebook account from hacking (apne facebook account ko hacking se kaise bachaye)

वैसे तो फेसबुक अपने users के लिए सिक्योरिटी से जुडी तमाम चीजो के लिए काम करती रहती है लेकिन फिर भी आये दिन आज भी ऐसे यूजर है या जो लोग नए होते है इस फील्ड में, उनकी लापरवाही से फेसबुक अकाउंट चोरी कर लिया जाता है और इसीलिये वोह हैकिंग का शिकार हो जाते है अगर नए यूजर या जिनको थोड़ी बहुत जानकारी है वह इन सब चीजो का ध्यान रखे तो हैकिंग होने संभावना बिलकुल जीरो हो जाये | इसलिए ध्यान में रखने वाली बाते निम्न है जिनसे हम अपने फेसबुक अकाउंट को हैक होने या चोरी होने बचा सकते है -
how to saved facebook account from hacking (apne facebook account ko hacking se kaise bachaye)
how to saved facebook account from hacking (apne facebook account ko hacking se kaise bachaye)

Password को कभी भी आसान न रखे  
किसी भी फेसबुक या इसके अलावा और भी अपना जो अकाउंट बनाते है उसके लिए पासवर्ड का चुनाव बड़ी ही सावधानी से किया जाना जरूरी है ऐसे पासवर्ड जो आपके मम्मी पापा , भाई बहन, बच्चे के नाम से या आपकी गर्लफ्रेंड के नाम से रखे गये जो पासवर्ड होते है वो बहुत ही जल्दी हैक होने के चांस हो जाते है और उन्हें बड़ी ही आसानी से क्रैक कर लिया जाता है ये पासवर्ड इसलिए भी जल्दी हैक हो जाते है जो लोग आपको जानते है या आपके करीबी लोग जो आपसे ईष्या करते है वो लोग बहुत जल्दी अपना आईडिया लगाकर ऐसा कर सकते है या जब वो जानना चाहते हो कि आप किस लड़की के साथ ज्यादा वक़्त बिताते है तो ऐसा आपके दोस्त भी कर सकते है |

Password कैसा रखा जाए
(1) Password चुनते समय वो lowercase और uppercase में होना चाहिए |
(2) पासवर्ड को और अधिक सिक्योर करने के लिए उसमे नंबर्स जैसे 1,2,3,4 या कोई भी numeric नंबर का उसे जरूर करना चाहिए |
(3)  पासवर्ड में @, !, #, $, * ऐसे सिंबल का भी उपयोग करना चाहिए |
(4) पासवर्ड कम से कम आठ करैक्टर का तो होना चाहिए ताकि किसी रैंडम पासवर्ड जनरेटर से भी वह हैक न हो सके |   

अपना account लॉगआउट करना ना भूले
अगर पब्लिक में जाकर किसी कैफे में या अपने कॉलेज के कंप्यूटर में या अपने दोस्त के कंप्यूटर या लैपटॉप में फेसबुक या दूसरा अकाउंट कभी यूज करते है तो वहां पर लॉगआउट करना धोखे से भी ना भूले और संभव हो तो ब्राउज़र की सेटिंग  में जाकर वहां से हिस्ट्री डिलीट कर दे और अगर आप क्रोम ब्राउज़र का यूज करते है तो वह से incognito mode में जाकर ही काम करे इस mode से ये होता है की कंप्यूटर की हिस्ट्री में आपका कोई भी डाटा सेव नहीं होता है बस आपको सीधे लॉगआउट करके चले जाना है | अब ये incognito mode है क्या, तो मई आपको बता दूं की ये एक प्राइवेट ब्राउज़र की तरह काम करता है जब आप अपना क्रोम ब्राउज़र ओपन करते है तो वहां से अपने कीबोर्ड से ctrl + shift + n का बटन दबा दीजये जिससे आपका प्राइवेट ब्राउज़र खुल जाएगा और अपना काम बड़ी ही आसानी से बिना किसी चिंता के कर सकते है |

फेसबुक के नए सिक्योरिटी features का उपयोग करें 
फेसबुक समय समय पर अपने यूजर के लिए नए नए सिक्योरिटी फीचर लांच करता रहता है तो उनके बारे में जानकारी रखिये और अपने आप को अपडेट रखिये जैसे कि आप अपने अकाउंट में ये फीचर activate कर सकते है की कोई व्यक्ति आपके अकाउंट को illegal एक्सेस करता है तो फेसबुक अकाउंट तुरंत आपको ईमेल के द्वारा सुचना देता है या आप अपना स्मार्टफोन यूज करते है और वहां से अपने अगर ईमेल sync के आप्शन को इनेबल किया हुआ है तो भी आपको ईमेल के द्वारा बताया जायेगा कि कोई आपके अकाउंट को एक्सेस कर रहा है इसलिए आप अपना पासवर्ड बदल लीजये और आप अपना वहां  से पासवर्ड बिना किसी देर के  बदल सकते है|

Lock और https:// अवश्य चेक करें
जब भी आप अपने फेसबुक अकाउंट से लॉग इन होते है तो आवश्यक तौर पर अपने एड्रेस बार में चेक कर ले जहाँ facebook.com लिखा आता है उससे पहले वहा हरे रंग का ताला और https:// लिखकर आ रहा है या नहीं और अगर ऐसा नहीं आ रहा है तो आप तुरंत वहां से लॉगआउट कर जाये और अपने ब्राउज़र को अपडेट कीजिये क्यूँ कि ये सिक्योर तरीका नहीं है लॉग इन करने का |

अपने ईमेल के अन्दर जाकर कभी लॉग इन ना करें 
फेसबुक आपके अकाउंट से जुडी उन सारी गतिविधियों को आपके ईमेल पर सेंड करता है जो आपके फेसबुक अकाउंट से जुड़ा होता है अगर कोई व्यक्ति आपके फेसबुक अकाउंट पर टैगिंग या आपको किसी कमेंट में मेंशन करता है या आप किसी को जब फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजते है और जब दूसरी साइड से कन्फर्म हो जाती है तो आपको उसकी इनफार्मेशन ईमेल पर भी भेजता है और कई बार जब आप अपने ईमेल से होकर फेसबुक अकाउंट को लॉग इन करते है तो आप हैकिंग का शिकार हो सकते है इसलिए ईमेल के अन्दर से जो लिंक दिए होते है वहां से कभी भी लोग इन ना करें क्यूँ कि वह लिंक एक स्पैम भी हो सकता है | कई बार ऐसा होता है कि आप जिस लिंक से लॉग इन होते है वह पेज ठीक उसी तरह ओपन होता है जैसा कि फेसबुक का पेज होता है इसलिए आप कभी भी ईमेल के लिंक से लॉग इन न करें | हैकर द्वारा बनाया गया ऐसे पेज को फिशिंग का नाम दिया गया है जो ठीक फेसबुक की तरह ही लगता है |
तो दोस्तों आशा करता हु की आप लोगो को समझ आ गया होगा कि अपने फेसबुक के अकाउंट को या और किसी भी अकाउंट को हैक होने से कैसे बचाया जा सकता है, अगर आपको ये पसंद आया हो तो अपने दोस्तों के साथ इसे शेयर करना ना भूलिए और लाइक जरूर कर दीजये जिससे मुझे भी हौसला मिलता रहे और आपके लिए ऐसी पोस्ट लाते रहे | तो मिलते है एक फिर से नए टॉपिक के साथ अगली पोस्ट में तब तक के लिए नमस्ते इंडिया |

 
Previous
Next Post »